Kisse Kahani

story time

शेर अली अफरीदी का नाम सुना है ? शेर अली अंडमान की जेल में काला पानी की सजा काट रहे थे. वो काला पानी की सजा के दौरान सोचा करते थे कि भारत की आज़ादी के लिए क्या किया जाए ? उन्होंने मन ही मन एक प्लान बनाया. प्लान के तहत उन्होंने अंग्रेज़ो के प्रति उग्रता छोड़ दी.

जेल के अँगरेज़ अफसरों का दिल जीता. उनके बदले व्यवहार के चलते अफसरों ने उन्हें नाई का काम दिया. वो सबके बाल काटते और भारतीय कैदियों से कहते कि वो एक बड़ा कारनामा करने वाले हैं. आखिर 8 फ़रवरी 1872 में भारत के गवर्नर जनरल लॉर्ड मेयो अंडमान जेल में तशरीफ़ लाये. सुरक्षा के कड़े योगदान थे. शेर अली भी अंग्रेज़ो के साथ उनकी खातिर में जुटे थे. जेल के सुरक्षा कर्मियों को शेर अली से कोई खतरा नहीं दिखता था.

आखिर शाम हुई, थोड़ा अँधेरा हुआ. शेर अली ने कपड़ों में छुपा कर बाल काटने वाला छुरा निकाला, सुरक्षा में लगे सैनिक जब तक कुछ समझ पाते शेर अली लार्ड मेयो का क़त्ल कर चुके थे. उन्हें 27 फ़रवरी को सजा ए मौत दी गयी.

आज़ादी के सबसे बड़ा एवं अकेला क्रांतिकारी जिन्होंने अंग्रेज वायसरॉय जनरल का क़त्ल किया ।

Leave a Reply