Kisse Kahani

story time

✳️ True Words ✳️

* आंसू बहाओ और खूब बहाओं लेकिन यह सोच कर नहीं कि हमारी ख्वाहिशात पूरी नहीं होती … बल्कि यह सोच कर कि हम अपनी ख्वाहिशात के किस क़दर गुलाम हैं।*

* Aansu bahaao aur Khoob bahaao… Lekin ye Soch kar Nahi k Hamari Khwahishaat Poori nahi Hoti……. Balki Ye Soch Kar k Hum Apni Khwahishaat ke Kis Qadar Gulaam hai’n,*

✳️ ✳️ ✳️

* सारी बात दिल की होती है, साहब !! अगर इंसान का दिल ही मर जाए तो लाख बेहतरीन चीज़ें अता कर दी जाएं, लबों पर मुस्कुराहटों के फूल नहीं खिलते _,”*

* Saari Baat Dil Ki hoti hai, Sahab !! _”*

*”_ Agar insaan ka Dil hi mar jaye to Laakh Behatreen Cheeze Ata kar di jaye’n, Labo per Muskurahato ke Phool nahi Khilte _,”*

✳️ ✳️ ✳️

* आपका ईमान आपका सबसे बड़ा खजाना है, इसकी कदर कीजिये और इसकी हिफाज़त कीजिये।।

* Aapka *Imaan* Aapka Sabse Bada Khazana Hai, Iski Kadr Kijiye Aur Iski Hifazat Kijiye…

✳️ ✳️ ✳️

*लोग कीचड़ से इसलिए बच के चलते हैं कि कपड़े खराब ना हो जाए और कीचड़ को यह घमंड होने लगता है कि लोग उससे डरते हैं*

*हमारे इर्द-गिर्द भी कुछ लोग इसी गुरुर में रहते हैं हम उनकी जहालत और सर से पनाह मांगते हैं और वह समझते हैं कि लोग हम से डरते हैं*

* Log Keechad Se Isliye Bach Ke Chalte Hain Ki Kapde Kharab Na Ho Jaye Aur Keechad Ko Yah Ghamand Hone Lagta Hai Ki Log Usse Darte Hain.

* Hamare Ird-Gird Bhi Kuchh Log Isi Guroor Me Rahte Hain, Ham Unki Jahalat Aur Sar Se Panah Mangte Hain Aur Wah Samajhte Hain Ki Log Ham Se Darte Hain…

✳️ ✳️ ✳️

* जब इंसान खामोश हो जाए और अपने हक़ के लिए भी ना बोले, तो समझ लें कि वह अपने अंदर बहुत कुछ दफन कर चुका है।*

* Jab insaan Bilkul Khamosh Ho jaye aur Apne Haq ke liye bhi na bole , To Samajh le’n k Wo Apne Andar bahut Kuchh Dafan Kar Chuka hai .*

✳️ ✳️ ✳️

* दुनिया बदतरीन होती जाएगी बुरे लोगों की बुराई की वजह से नहीं… बल्कि अच्छे लोगों की ख़ामोशी की वजह से !!!!

* Duniya Badtareen Hoti Jayegi Bure Logo Ki Buraai Ki Wajah Se Nahi,

Balke Achche Logo Ki *Khamoshi* Ki Wajah se…

✳️ ✳️ ✳️

* बुरे मिजाज़ को बर्दाश्त करना अच्छे मिजाज़ की बेहतरीन अलामत है।।

* Buray Mizaj Ko *Bardasht* Karna Achche Mizaj Ki Behtareen Alamat Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* ऐसे ताल्लुक़ से तन्हाई बेहतर है, जिसमें हर बार किसी को चीख चीख कर ताल्लुक़ होने का एहसास दिलाना पड़ता है _,*

* Ese Talluq se Tanhayi Behtar hai, Jisme Har Baar Cheekh Cheekh kar Talluq hone Ka Ahsaas dilana Padta hai _”*

✳️ ✳️ ✳️

* अगर आप अपने अंदर से गुरूर (घमंड) की आदत को मिटा देना चाहते हो तो ग़रीब इंसान को सलाम कर लिया करो।।

*Agar Aap Apne Andar Se Guroor(Ghamand) Ki Aadat Ko Mita Dena Chahte Ho Toh Gareeb Insaan Ko *Salaam* Kar Diya Karo…

✳️ ✳️ ✳️

* आपका असली मुक़ाबला सिर्फ अपने आप से है, साहब !! अगर आप आज खुद को बीते कल से बेहतर पाते हैं तो यह आपकी बड़ी जीत है _,*

* Aapka Asli muqabla Sirf Apne Aapse hai, Sahab !! _”*

*”_ Agar Aap Aaj khud ko Beete Kal se behtar Pate hai’n to Ye Aapki badi Jeet hai _,”*

✳️ ✳️ ✳️

*कुछ नया पाने के लिए वह मत खो देना, साहब !! जो पहले से तुम्हारा है…

* Kuchh Naya Pane Ke Liye Wo mat Kho dena Sahab _ Jo pehle se Tumhara hai.

✳️ ✳️ ✳️

* बहुत से नुक़सान इंसान को इस वजह से पहुँचते हैं कि वो किसी से मशवरा नहीं लेता।।

* Bohut Se Nuqsan Insaan Ko Iss Wajah Se Pohuchte Hai Ke Woh Kisi Se *Mashwara* Nahi Leta…

✳️ ✳️ ✳️

*अपने किरदार की हिफाजत जान से बढ़कर कीजिये!*

*क्योंकि इसे जिंदगी के बाद भी याद किया जाता है…..!!*

* Apne Kirdaar Ki Hifazat, Jaan Se Badkar Kijiye.

* kyunki Ise Zindagi Ke Baad Bhi Yaad Kiya Jata Hai.

✳️ ✳️ ✳️

* 3 इंसान हमेशा 3 चीज़ों से नाक़ाम रहेगा…

1) गुस्से वाला – दुरुस्त फैसलों से

2) झूठा – इज़्ज़त से

3) जल्दबाज़ – कामयाबी से

*3 Insaan Hamesha 3.Chizon Se Naqaam Rahenga.*

1) Gusse Wala Durust Faislo Se.
2) Jhoota Izzat Se.
3) Jald Baaz Kamyabi Se.

✳️ ✳️ ✳️

* इंसान के ये तीन काम -: किसी के दिल में इज़्ज़त बना सकती है,

1. सलाम करना 2. किसी को जगह देना 3. सही नाम से पुकारना।।

Insaan Ke Ye *3.Kaam* Kisi Ke Dil Mein Izzat Bana Sakti Hai.

*Salaam Karna.*

*Kisi Ko Jagah Dena.*

* Naam Se Pukarna.*

✳️ ✳️ ✳️

* गुफ़्तगू उमूमन आहिस्तगी और मुनासिब आवाज़ के साथ करनी चाहिए।

बे मौक़ा चीख़ चीख़ कर बातें करना, हिमाक़त वा जहालत की निशानी है।।

❧ Guftagu Umomon Aahistagi Aur Munasib Aawaz Ke Sath Karni Chaahiyen,

❧ Be Mauqa Cheekh Cheekh Kar Baatein Karna, Himaaqat Wa Jahaalat Ki Nishaani Hai.

✳️ ✳️ ✳️

* बदले की ख़्वाहिश के बग़ैर हर किसी के साथ भलाई करो।

क्यों के जो फ़ूल तक़सीम करता है खुशबू उसके हाथों में भी रह जाती है।।

* Badle Ki Khwaish Ke Bagair Har Kisi Ke Saath *Bhalai* Karo.

Kyun Ke Jo Phool Taqseem Karta Hai Khushbu Uske Haatho’n Mein Bhi Reh Jaati Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* गुनाह ना कर, इस ज़िंदगी का क्या भरोसा जो कुछ पल की है।

हम भी उन लम्हों की तरह गुज़र जायेंगे जो लौट कर नहीं आते।।

❧ Gunah Na Kar, Is Zindagi Ka Kiya Bharosa Jo Kuchh Pal Ki Hai,

❧ Ham Bhi Un Lamhon Ki Tarah Guzar Jayeinge Jo Laut Kar Nahi Aate..

✳️ ✳️ ✳️

* सुख इंसान के घमंड का इम्तेहान लेता है, और दुख इंसान के सब्र का इम्तेहान लेता है।।

*Sukh* Insaan Ke Gamand Ka Imtehan Leta Hai, Aur *Dukh* Insaan Ke Sabr Ka Imtehan Leta Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* दुनिया वो किताब है जो कभी नहीं पढ़ी जा सकती।

लेकिन ज़माना वो उस्ताद है जो सब कुछ सिखा देता है।।

*Duniya* Woh Kitaab Hai Jo Kabhi Nahi Padhi Jha Sakti,

Lekin *Zamana* Woh Ustad Hai Jo Sab Kuch Sikha Deta Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* जहाँ सदाक़त और ख़ुलूस नज़र आये, वहाँ दोस्ती का हाथ बढ़ाओ।

वरना तुम्हारी तन्हाई तुम्हारी बेहतरीन साथी है।।

* Jahan Sadaaqat Aur Khuloos Nazar Aaye, Wahaan *Dosti* Ka Haath Barhao,

Warna Tumhari *Tanhayi* Tumhari Behtareen Saathi Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* खुशी एक ऐंसी चीज़ है, जो आपके पास न होने के बावजूद भी आप चाहो तो दूसरों को दे सकते हो।।

❧ Khushi Ek Aesi Cheez Hai,❧ Jo Aapke Paas Na Hone Ke Bawajud Bhi Aap Chaho To Doosron Ko De Sakte Ho.

✳️ ✳️ ✳️

* रिश्तों का ग़लत इस्तेमाल कभी मत करना, क्योंकि अच्छे लोग ज़िन्दगी में बार-बार नहीं आते।।

*Rishto’n* Ka Galaat Istemal Kabhi Mat Karna Kyun Ke Acche Log Zindagi Mein Baar-Baar Nahi Aate…

✳️ ✳️ ✳️

* रिश्ते होने से रिश्ता नहीं बनता, बल्कि रिश्ते *निभाने* से रिश्ते बनते हैं।।

Rishtey Hone Se Rishta Nahi Banta Balke Rishtey *Nibhane* Se Rishtey Bante Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* ग़लत सोच और अंदाज़ा इंसान को हर रिश्ते से *गुमराह* करती है।।

* Galaat Soch Aur Andaza Insaan Ko Har Rishtey Se *Gumraah* Karti Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* ज़मीन अक्लमंदों से तो भर गई है लेकिन दर्दमंदों से खाली है।।

*Zameen* Aql’mando Se Toh Bhar Gayi Hai Magar Dard’mando Se Khhali Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* बर्थडे पर क़ीमती केक पर ख़र्च करने वाले लोग, मांगने वाले से कहते हैं के माफ़ करो छुट्टा नहीं हैं।।

Birthday Par *Qeemti Cake* Par Kharch Karne Wale Log,

Maangne Wale Se Kehte Hai Ke Maaf Karo Chutta Nahi Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* जीवन में सुखी रहने के लिए ये मानना ज़रूरी है, कि सब कुछ हर किसी को नहीं मिलता।

लेकिन मौत हर एक के नसीब में लिख्खी है।।

* Jeevan Mein *Shukhi* Rehne Ke Liye Ye Suwikar Karna Jaroori Hai Ke Sab Kuch Har Kisi Ko Nahi Milta,

Lekin *Maut* Har Ek Ke Naseeb Mein Likhi Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* ख़ुश रहने का एक बेहतर तरीका, उम्मीद रब से रख्खो सब से नहीं।।

❧ Khush Rehne Ka Ek

Behtar Tarika, ❧ Umeed Rab Se Rakho, Sab Se Nahi.

✳️ ✳️ ✳️

* रिश्ते और नाते मतलब की पटरी पर चलने वाले वो रेलगाड़ी हैं, जिसमे जिस-जिस का स्टेशन आता है वो उतर जाता है।।

* Rishtey Aur Naatey Matlab Ki *Pattri* Par Chalne Wale Woh Rail-Gaadi Hai, Jinme Jis-Jis Ka Station Aata Hai Woh Utar Jaata Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* किसी को दिल दुखाने वाली बातें न किया करो, क्योंकि वक़्त बीत जाता है, लेकिन बातें हमेशा याद रहती हैं।।

* Kisi Ko *Dil Dhukane* Wali Baat Naa Kiya Karo, Kyun Ke Waqt Bith Jaata Hai Lekin Baatein Hamesha Yaad Rehti Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* जब रिश्ते में दूरियाँ बढ़ती हैं तो ग़लतफ़हमी भी बढ़ जाती हैं। फिर सामने वाले को वो भी सुनाई देता है जो हमने कभी कहा भी नहीं।।

*Jab Rishte Mein *Duriya* Badhti Hai Toh Galaat-Fehmiya Bhi Badh Jaati Hai, Phir Saamne Wale Ko Woh Bhi Sunai Deta Hai Jo Humne Kabhi Kaha Hi Nahi…

✳️ ✳️ ✳️

* जब इंसान मान ले कि वो गलत था, तब वो सही होने लगता है।।

❧ Jab Insaan Maan Le Ke Woh Galat Tha, ❧ Tab Wo Sahi Hone Lagta Hai.

✳️ ✳️ ✳️

* दूसरों को नसीहत के फूल देते वक़्त, ख़ुद उनकी खुशबू लेना मत भूलिए।।

❧ Dusro Ko Nasihat Ke Phool Dete Waqt, ❧ Khud Unki Khushbu Lena Mat Bhuliye.

✳️ ✳️ ✳️

* जहाँ ऐसा लगे कि आपकी तरफ से दूसरों को तकलीफ होती है, तो वहाँ से निकल जाना बेहतर है।।

* Jaha Aisa Laage Ke Aapki Taraf Se Dusro Ko *Taqleef* Hoti Hai Toh Waha Se Nikal Jaana Hi Behtar Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* जो दोस्ती या मुहब्बत इंसान को अल्लाह से दूर कर दे, उस से बचो क्योंकि उस से बढ़ कर दुश्मन नहीं।।

❧ Jo Dosti Ya Muhabbat Insaan

Ko Allah Se Door Kar Dey,

❧ Us Se Bacho Kyoki Us Se Badh

Kar Koi Dushman Nahi..

✳️ ✳️ ✳️

* किसी को धोखा देकर ये मत सोचो के वो कितना बेवकूफ़ है, बल्कि ये सोचो के उसको तुम पर कितना भरोसा है।।

* Kisi Ko *Dhoka* Dekar Ye Mat Socho Ke Woh Kitna Bewakuf Hai,

Balke Ye Socho Ke Usko Tumpar Kitna *Bharosa* Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* ये दो चीज़ें ऐंसी हैं, जिसके देने से किसी का कुछ नहीं जाता… एक मुस्कुराहट और दूसरी दुआ.. इसलिए हमेशा देते रहो।।

❧ Ye Do Cheeze Aisi Hai, Jiske

Dene Se Kisi Ka Kuch Nahi Jata,

❧ Ek Muskurahat Aur Dusri Dua,

Isliye Hamesha Dete Raho.

✳️ ✳️ ✳️

* अपनी ज़ुबान का इस्तेमाल उसी वक़्त करें, आप जो भी कुछ बोलने जा रहे हो वो आपकी खामोशी से ज़्यादा ख़ूबसूरत हो।।

*Apni *Zubaan* Ka Istemal Ussi Waqt Kare, Aap Jo Kuch Bolne Ja Rahe Ho Woh Aapki Khamoshi Se Zyada *Khobsurat* Ho…

✳️ ✳️ ✳️

* दुनिया में इन 6 चीज़ों का हमारे पास होना ज़रूरी है-:

1. अच्छी ज़ुबान, 2. अच्छा दोस्त,

3. अमानत दारी, 4. ख़ुश अख़लाक़ी,

5. रिज़्के हलाल, 6. माँ की दुआ।।

❧ Duniya Mein In 6 Chezon Ka

Hamare Paas Hona Zaruri Hai,

1.Achi Zuban, 2.Acha Dost,

3.Amant Dari, 4.Khush Akhlaqi,

5.Rizqe Halal, 6.Maa ki Dua.

✳️ ✳️ ✳️

* शौहर को ग़ुलाम बनाने वाली बीवी, वो ग़ुलाम की बीवी कहलाती है।।

* Shauhar Ko Gulaam Banane Wali Biwi, Woh Gulaam Ki Biwi Kehlati Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* ज़मीर को बेच कर अमीर बन जाना, इससे बेहतर है के फ़क़ीर बन जाना।।

*Zameer* Ko Bechkar Aamir Banjana, Isse Behtar Hai Ke *Faqeer* Banjana…

✳️ ✳️ ✳️

* पूरी दुनिया जीत सकते है संस्कार से, और जीता हुआ भी हार जाते हैं अहंकार से।।

* Puri Duniya Jeet Sakte Hai *Sanskar* Se, Aur Jeeta Hua Bhi Har Jaate Hai *Aahankar* Se…

✳️ ✳️ ✳️

* सदक़ा हर मुसीबत को टाल देता है, और हम सब लोग ज़्यादातर सदक़ा मुसीबत आने के बाद देते हैं।।

*Sadqa* Har Musibat Ko Taal Deta Hai, Aur Hum Sab Log Zyadatar Sadqa Musibat Aane Ke Baad Dete Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* दुनिया की दौलत में इतना मशरूफ़ ना हो जाना।

अय इंसान

याद रख आख़िरत की भी तुझे तैयारी करनी है।।

* Duniya Ki Daulat Mein Itna Mashruf Naa Hojana,

Aey Insaan~

Yaad Rakh Aakhirat Ki Bhi Tujhe Taiyaari Karni Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* दौलत को पाने के बाद नफ़्स को क़ाबू रखना हर किसी की ताक़त नहीं।

क्यों के इंसान की परख उसकी दौलत से नहीं बल्कि उसकी नियत से होती है।।

* Daulat Ko Paane Ke Baad *Nafs* Ko Control Rakhna Har Kisi Ki Taqat Nahi,

Kyun Ke Insaan Ki *Parakh* Uski Daulat Se Nahi Balke Uski Niyyat Se Hoti Hai…

✳️ ✳️ ✳️

* रिश्तों को ऐंसे निभाओ, जैसे शहद की मख्खी फूलों से रस भी ले लेती है और उनको नुक़सान भी नहीं होने देती।।

❧ Rishton Ko Aisay Nibhao,

❧ Jaise Shahad ki Makhi Phulon

Say Ras Bhi Leti Hai Aur Unko

Nuqsan Bhi Nhi Honay Dety.

✳️ ✳️ ✳️

* नेमतों की हिफाज़त शुकर से करो, और मुसीबतों का मुक़ाबला सबर से करो।

बेशक अल्लाह सबर करने वालों के साथ है।।

❧ Nematon Ki Hifazat Shukar Se Karo, Aur Musibat Ka Muqabla Sabar Se Karo,

❧ Beshak, Allah Sabar Karny Walon Ke Saath Hai…!!

✳️ ✳️ ✳️

* दुनिया की सबसे बेहतरीन दवाई है “ज़िम्मेदारी” बस एक बार पी लीजिये ज़िन्दगी भर थकने नहीं देगी।।

* Duniya Ki Sabse Behtareen Dawai Hai *Zimmedari* Bs Ek Baar Pii Lijiye Zindagi Bhar Thakne Nahi Dengi…

✳️ ✳️ ✳️

* मदद एक ऐंसी घटना है के करो तो लोग भूल जाते हैं और न करो तो लोग हमेशा याद रखते हैं।।

*Madad* Ek Aisi Ghatna Hai Ke Karo Toh Log Bhul Jaate Hai Aur Naa Karo Toh Log Hamesha Yaad Rakhte Hai…

✳️ ✳️ ✳️

Leave a Reply